किसान क्रेडिट कार्ड योजना 2021: जाने ! Kisan Credit Card कैसे बनवाएं?

2
Kisan Credit Card Yojana

किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है ? | Kisan Credit Card Scheme पंजीकरण प्रक्रिया | क्रेडिट कार्ड योजना किसान लिस्ट | किसान क्रेडिट कार्ड के लिए पात्रता, डाक्यूमेंट्स एवं लाभ

Kisan Credit Card Yojana 2021 को लेकर हमारे किसान भाइयो के मन में अनेको सवाल उठते है, आज इस पोस्ट आपके किसान क्रेडिट कार्ड से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी विस्तार में प्रदान की गई है. आइये जाने योजना की विस्तृत जानकारी हिन्दी में.. KCC full form is  | KCC-Kisan Credit Card Scheme Features, Benefits and How to apply?

क्या होता है किसान क्रेडिट कार्ड ?

किसान क्रेडिट कार्ड आज किसान भाइयो की सबसे बड़ी जरुरत हैं, भारतीय बैंकों द्वारा वर्ष 1998 में आरम्भ की गयी एक योजना है।  इससे बैंक द्वारा किसानों को कर्जा दिया जाता है जिसकी ब्याज दर बहुत कम होती है. किसान क्रेडिट कार्ड किसानो के लिए एक वरदान हैं . इससे किसानो को आर्थिक सहायता मिलती हैं जिससे किसान भाईयों को समय पर खेती के लिए आसानी से बहुत ही कम ब्याज दर पर ऋण मिलता हैं ताकि किसान समय पर अपनी खेती के लिए कृषि उपकरण, खाद-बीज और अपने जीवन संबंधी जरुरतो को आसानी से पूरा कर सकता हैं .

किसान क्रेडिट कार्ड के तहत सम्बन्धित बैंक द्वारा किसानो को एक क्रेडिट कार्ड व पासबुक उपलब्ध कराई जाती हैं. जिसमे उपभोक्ता का नाम, पता, जमीन की जानकारी, उधार की अवधि, वैलिडिटी पीरियड, और उपभोक्ता की पासपोर्ट साइज़ फोटो आदि जानकारी के तौर पर इंगित की जाती हैं.यह कार्ड एक परिचय पत्र की तरह भी काम करता हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड सहकारी बैंकों, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों द्वारा पेश किए जाते हैं। उनका भारत में किसी भी किसान द्वारा लाभ उठाया जा सकता है। किरायेदार और शेयरक्रॉपर्स भी इस कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। यह योजना न केवल उन किसानों के लिए क्रेडिट डिलीवरी और स्क्रीनिंग प्रक्रिया को सरल बनाती है जो बैंकिंग प्रथाओं और प्रक्रियाओं के बारे में नहीं जानते हैं बल्कि फसल के मौसम के बाद लचीला भुगतान अनुसूची भी प्रदान करते हैं ।

किसान क्रेडिट कार्ड का इतिहास ?

भारत के किसानों की समय पर और अल्पकालिक क्रेडिट जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकार ने रोपण और कटाई के मौसम के दौरान देश के कुछ प्रमुख बैंकों के साथ लंबी चर्चा के बाद मॉडल किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत  सन 1998-99 में वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा ने की थी उस वक्त वित्त मंत्री (Finance Minister) ने अपने भाषण में कहा था की “किसान क्रेडिट कार्ड योजना (kisan credit card Yojana) के तहत बैंक द्वारा किसानो को एक तरह से गोद लिया जायेगा जिससे किसान खेती के लिए उर्वरक बीज, खाद और कीटनाशक खरीद सके” नाबार्ड (National Bank for Agriculture and Rural Development) प्रमुख बैंकों के साथ विचार-विमर्श करके एक आदर्श किसान क्रेडिट कार्ड योजना तैयार की हैं यह स्कीम रिजर्व बैंक के साथ मिलकर शुरू की गई थी.

Eligibility For Kisan Credit Card | किसान क्रेडिट कार्ड के लिए पात्रता ?

  • किसी भी किसान को मिल सकता है.
  • किसान क्रेडिट कार्ड के लिए वे सभी किसान अप्लाई कर सकते हैं जो कि स्वयं के खेत में कृषि उत्पादन में हो या अन्य किसी के खेत में कृषि का कार्य करते हो या किसी भी तरह के फसल उत्पादन से जुड़े हो, वे एकल या सम्मिलित क्रेडिट कार्ड प्राप्त कर सकते हैं .
  • किसान क्रेडिट कार्ड के लिए किसान को बैंक के ऑपरेशन एरिया में होना जरुरी हैं .

Benefits of Kisan Credit Cards | किसान क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे हैं?

  • किसान क्रेडिट कार्ड एक बहुत ही सरल प्रक्रिया हैं जिसे आसानी से बिना पढ़ा लिखा या कम पढ़ा लिखा व्यक्ति समझ सकता हैं और उसका इस्तेमाल कर सकता हैं .
  • Loan पर लगने वाली ब्याज दर बहुत कम होती है
  • आपको हर वर्ष लोन के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है इस तरह यह समय बर्बादी और तनाव से राहत देती हैं
  • इसमें किसान को ऋण क्रेडिट के तौर पर मिल जाता हैं .
  • किसान क्रेडिट कार्ड के कारण बिना किसी चिंता के किसान अपने खेत के लिए बीज, खाद और कीटनाशक खरीद सकता हैं .
  • किसान क्रेडिट कार्ड ऋण अदा करने का समय किसान कि सुविधानुसार अर्थात फसल के बिकने के बाद तक होता हैं .
  • किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये किसान बैंक की किसी भी शाखा से धन ले सकता हैं .
  • कार्ड की सहायता से ATM से पैसा भी निकाल सकते हैं
  • फसल बीमा (crop insurance) भी साथ ही मिल जाता है

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता है?

List of Documents Required to Apply for KCC (Kisan Credit Card)

  1. पहचान प्रमाण पत्र (Identity Proof) आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, PAN कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि
  2. पते का प्रमाण (Address Proof)
  3. आपकी फोटो
  4. भरा हुआ आवेदन पत्र
  5. अगर आपकी लोन राशि (किसान क्रेडिट कार्ड लिमिट) ज्यादा है, तो हो सकता है आपको अपनी ज़मीन बैंक के पास गिरवी (mortgage) रखनी पड़े| हो सकता है आपको अपनी फसल को भी hypothecate करना पड़े
  6. आवेदक की न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए और ऋण अवधि के अंत में अधिकतम आयु 75 वर्ष होनी चाहिए
  7. 60 वर्ष से ऊपर के आवेदकों के पास एक सह-आवेदक होना चाहिए, जिसकी आयु 60 वर्ष से कम है और मुख्य आवेदक का कानूनी उत्तराधिकारी या तत्काल परिवार सदस्य होना चाहिए.

किसान क्रेडिट कार्ड पर खर्चे/लोन का भुगतान कैसे करते हैं?

इस पोस्ट में स्टेट बैंक किसान क्रेडिट कार्ड के नियम के बारे में बताया गया है अलग अलग  बैंक के KCC के नियम अलग हो सकते हैं .

  • खरीफ़ (Kharif) (1 अप्रैल से 30 सितम्बर): आपको लिए गए पैसे का भुगतान 31 जनवरी तक करना होगा.
  • रबी (1 अक्तूबर से 31 मार्च): भुगतान 31 जुलाई तक करना होगा
  • अगर खरीफ और रबी दोनों हैं, तो भुगतान 31 जुलाई तक करना होगा
  • लॉन्ग टर्म क्रॉप: लोन लेने के 12 महीने के भीतर भुगतान करना होगा
  • भुगतान करने के लिए आप अपने क्रेडिट कार्ड बैंक खाते में पैसा Cash या चैक के माध्यम से जमा करा सकते हैं

KCC पर कितना लोन मिल सकता है?

आपकी क्रेडिट लिमिट (लोन) आपकी ज़मीन की आकार, ज़मीन की कीमत और प्रस्तावित फसल/पैदावार इत्यादि पर निर्भर करती है.आप समझ सकते हैं की लोन राशि आपकी ज़रुरत के हिसाब से ही मंजूर की जाती है. अगर आपके पास खेती की कम ज़मीन है, तो आपको लोन भी कम मिलेगा.और हाँ आपकी क्रेडिट लिमिट प्रति वर्ष बढ़ सकती है. जैसे की SBI किसान क्रेडिट कार्ड ,Oriental Bank of Commerce और ICICI किसान क्रेडिट कार्ड में आपकी क्रेडिट लिमिट (लोन) हर वर्ष 10% बढती है.

मान लीजिये आपने 1 लाख रुपये की लिमिट से शुरुआत करी थी, तो 5 साल में आपकी लिमिट बढ़कर 1.5 रुपये हो जायेगी.

आप विभिन्न बैंक की वेबसाइट पर किसान क्रेडिट कार्ड कैलकुलेटर का उपयोग करके अपनी लोन की पात्रता चेक कर सकते हैं.

आईसीआईसीआई बैंक किसान क्रेडिट कार्ड कैलकुलेटर (KCC calculator)

किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज दर क्या होती है?

किसान क्रेडिट कार्ड पर लगने वाली ब्याज दरें अलग-अलग बैंक और उधार सीमाओं पर भी भिन्न-भिन्न होती हैं। आम तौर पर, केसीसी पर मिनिमम 3% तथा अधिकतम 9 % प्रति वर्ष ब्याज दर का शुल्क लिया जाता है।

मान लेते है की देश के किसी भी राज्य के कोई भी किसान किसान क्रेडिट कार्ड से 5 लाख रूपये का कर्ज किसी भी राष्ट्रीय बैंक से लेता है.तो अब यह जानना होगा की वह किसान एक साल में कितना रुपया बैंक को लौटना पड़ेगा | इस पर किसान को दो तरह का ब्याज लगेगा | एक 3 लाख रूपये तक के लोन पर 7 प्रतिशत तथा 2 लाख लोन पर 9 प्रतिशत का ब्याज लगेगा | अगर वह किसान जिस तारीख से लोन लिया है अगर उसी तारीख को लोन वापस कर देता है तो 3 लाख रूपये पर 3 प्रतिशत का सब्सिडी मिलेगा | बाकि 2 लाख रूपये पर 9 प्रतिशत का ही ब्याज लगेगा.

जैसा की ऊपर बताया की एक साल में लौटने पर 3 लाख रूपये पर 3 प्रतिशत का सब्सिडी मिलेगा | इसका मतलब यह हुआ की 3 लाख रूपये पर 4 प्रतिशत का ब्याज लगेगा | 12000 रुपया 3 लाख पर एक साल का ब्याज होगा | बचे हुए 2 लाख पर 9 प्रतिशत का ब्याज लगेगा | 18000 रुपया 2 लाख रूपये का ब्याज होगा .

आप एक्सिस बैंक के किसान क्रेडिट कार्ड की ब्याज दर इस लिंक पर चेक कर सकते हैं|

आईसीआईसीआई बैंक की ब्याज दर जानने के लिए आप इस लिंक पर जा सकते हैं|

साथ ही अगर सरकार की कोई इंटरेस्ट सब्सिडी स्कीम चल रही है, तो आपको उस स्कीम का फायदा भी मिल सकता है|

क्या किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कुछ गिरवी रखना होता है?

हर बैंक के नियम व शर्ते अलग-अलग हो सकते हैं.

  • अगर लोन की राशि कम है तो इसके लिए शायद आपको कुछ भी सेकुरिटी देने की ज़रुरत नहीं है.
  • जी हाँ अधिक राशि के लिए बैंक आपसे सेकुरिटी की मांग कर सकता है.

जैसे की स्टेट बैंक 3 लाख तक के लोन के लिए कोई सेकुरिटी नहीं मांगता परन्तु 3 लाख से ऊपर के Loan पर आपको कुछ गिरवी रखना होगा..

किसान क्रेडिट कार्ड के अंतर्गत लोन सुविधा

  • पहले साल के लिए short term credit limit फिक्स की गई हैं जो कि फसलों की खेती, प्रस्तावित फसल पद्धति पर निर्भर करती है .
  • आगामी फसल, एवम आवश्कतानुसार .
  • फसलो की देख रेख का खर्च, उनका बिमा, किसानों का एसेट बीमा एवम दुर्घटना बिमा .
  • आने वाले प्रत्येक वर्ष 1 से 5 में लोन 10 % बढाकर दिया जायेगा और जो short term credit limit दी गई थी उसे पाँचवे वर्ष में 150% तक बढ़ा दिया जायेगा .
  • कृषि औजार / उपकरण आदि पर इन्वेस्ट होने वाली क्रेडिट राशि और एक वर्ष की अवधि के भीतर लौटाई गई राशि की जानकारी KCC की लिमिट तय करते वक्त देखी जाती हैं .
  • जो short term loan पाँच वर्ष के लिए दिया जायेगा एवम अनुमानित निवेश ऋण इन्हें KCC की Maximum Permissible Limit (MPL) के तौर पर इंगित किया जायेगा .
  • KCC धारको को एटीएम कम डेबिट कार्ड दिया जायेगा साथ ही उसका इस्तेमाल भी सिखाया जायेगा . जिससे वे पैसे निकल सके .
  • जब KCC limit 3 लाख होती हैं तब प्रोसेसिंग शुल्क माफ़ कर दिया जाता हैं .
  • KCC अकाउंट प्रति वर्ष दी गई शर्तो एवम दिनांकों के अनुसार रिन्यू किये जाने चाहिये .
  • रिन्यू की जाने वाली प्रक्रिया सामान्य ही हैं इसके लिए एक गाइड लाइन फॉर्म भरना होगा . शर्तो के अनुसार नयी MDL का निर्धारण किया जायेगा.
  • योग्य फसलों को फसल बीमा योजना के तहत कवर किया जाएगा जो कि राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना (एनएआईएस (NAIS) के तहत आएगा .

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं

किसानो की जरुरत एवम उनकी आर्थिक स्थिती देखते हुए यह kisan credit card Yojana बहुत लाभकारी हैं. आज प्रक्रति के बदलते व्यवहार के कारण सबसे ज्यादा देश का किसान परेशान हैं. ऐसे में खेती से संबंधी जरुरी उर्वरक, बीज,खाद एवम अन्य समान लेने में मिलने वाली यह मदद किसान को राहत देती हैं .

किसानो को समय के अनुसार खेती में परिवर्तन करने की भी आवश्यक्ता हैं. इसके लिए किसानो को Kisan Call Center से जुड़ना चाहिये. साथ ही किसानो को अपने बच्चों की पढाई लिखाई पर पूरा ध्यान देना चाहिये. ताकि भविष्य में वे किसानी के अलावा भी कुछ कार्य कर सके.

ऐसे बनवाएं किसान क्रेडि कार्ड :

जो भी किसान किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहता है उसे आवेदन फॉर्म अप्लाई करने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ अपने नजदीकी बैंक शाखा में जाना होगा । बैंक में kcc डिपार्टमेंट के अधिकारी से Kisan Credit Card Yojana का आवेदन फॉर्म लेना होगा । इस आवेदन फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारियों को सही से फॉर्म में दर्ज करने के बाद जरूरी कागजात फॉर्म के साथ अटैच करके बैंक अधिकारी को जमा करवा दें । उसके बाद आपके आवेदन फॉर्म का सत्यापन किया जाएगा और कुछ ही दिनों में आपका किसान क्रेडिट कार्ड जारी कर दिया जाएगा ।

Kisaan Credit Card को देश मे पूरी तरह से लाने के श्रेय श्री अटल बिहारी वाजपाई की सरकार को जाता हैं. इससे पहले किसानो को बैंक और साहूकारो के दरवाजे जाना पड़ता था जो कि उनके लिये आसान नहीं था. किसान क्रेडिट कार्ड से किसानों को संबल मिला और 1998 से अब तक इस योजना का किसान लाभ ले रहे हैं. जिसके तहत उन्हे बीज, खाद, एवं खेती के उपकरणो के लिये निर्भर नहीं करना पड़ता वे आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये अपने सारे खर्चे निकाल लेते हैं और वर्ष के अंत मे उन्हे चुकता भी कर देते हैं।

इसे भी देखें : खेती की जमीन खरीदने के लिए बैंक लोन कैसे मिलेगा? ये है पूरी योजना

Kisan Credit Card Yojana details in hindi में अगर कोई गलती हो तो कमेंट के माध्यम से हमें बताये और यह जानकारी आपको कैसी लगी ये भी बताये तथा इसे Whatsaap , Facebook पर अवश्य शेअर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा किसान भाई KCC का लाभ उठा सके . धन्यवाद 

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here