Advertisement
Home Haryana 20 अप्रैल से गेहूं – सरसों की खरीद करेगी राज्य सरकार/ किसानों...

20 अप्रैल से गेहूं – सरसों की खरीद करेगी राज्य सरकार/ किसानों की चिंता बढ़ी

0
हरियाणा गेहूं-सरसों की खरीद
हरियाणा गेहूं-सरसों की खरीद

हरियाणा गेहूं-सरसों की खरीद : देश में कोरोना वायरस महामारी के चलते एक तरफ जहां पूरी दुनिया ठहर सी गई है और 25 मार्च से 21 दिन के लिए लगे lockdown के कारण लोग अपने घरों से बाहर नही निकल सकते। ऐसे में पूरी दुनिया के लिए अन्न पैदा करने वाले किसान के हालात भी इस महामारी के चलते बिगड़ते जा रहे है।

देश में चना, सरसों और गेहूं की फसल खेतों में पककर तैयार हो गई है। कुछ किसानो ने अपनी फसल को जैसे-तैसे करके काट भी लिया है और बाज़ार में बेचने की सोच रहा है , परन्तु कोरोना असर के चलते सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर इसकी खरीद को टाल दिया गया है।

20 अप्रैल के बाद गेहूं-सरसों की खरीद करेगी राज्य सरकार

Advertisement

बुधवार को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास की अफसरों के साथ बैठक में प्रदेश के लाखों किसानों से अपील की गई है की उन्हें अधिक चिंतित होने की आवश्यकता नही है, सरकार द्वारा किसानों का एक-एक दाना उचित दाम देकर ख़रीदा जायेगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आमतौर पर सरसों और गेहूं की खरीद राज्य में जहां 1 अप्रैल से शुरू हो जाती है वो इस बार 20 अप्रैल तक टाल दी गई है। अब किसानों की फसलों को 20 अप्रैल के बाद ही ख़रीदा जायेगा।

कोरोना के चलते हरियाणा में गेहूं की खरीद तीन हिस्सों (चरणों ) में होगी

Additional Chief Secretary to Govt. Haryana, Department of Food, Civil Supplies and Consumer Affairs द्वारा जारी निर्देशों के अनुसार किसान को गेहूं खरीद पर MSP + Incentive दिया जायेगा . जिसकी रेट लिस्ट बोनस सहित प्रदान की गई है .

Subject:- Delay in Wheat Procurement in RMS 2020-21 in view of Covid-19 reg.

  1. प्रथम चरण 20/04/2020 से 05/05/2020 तक का रहेगा जिसमे गेहूं खरीद के लिए किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य Rs 1925/क्विंटल के हिसाब से भुगतान किया जायेगा ।
  2. दुसरा चरण 06/05/2020 से 31/05/2020 का होगा जिसमे गेहूँ खरीद के लिए किसान को न्यूनतम समर्थन मूल्य के साथ Rs 50/क्विंटल बोनस दिया जाएगा, उस हिसाब से 1925+50 =1975 रूपये प्रति क्विंटल का भुगतान होगा .
  3. तीसरा चरण 01/06/20 से 30/06/2020 तक का होगा जिसमे किसान को गेहूं के न्यूनतम समर्थन मूल्य के ऊपर Rs 125 /क्विंटल बोनस मिलेगा, उस हिसाब से 1925+125 =2050 रूपये प्रति क्विंटल का भुगतान होगा .
Subject:- Delay in Wheat Procurement in RMS 2020-21 in view of Covid-19 reg.

किसानों के लिए मुश्किल अनाज रखने के लिए स्वयं करना पड़ सकता है इंतजाम

कोरोना महामारी के संक्रमण को बढ़ने से फैलने के लिए सरकार हर सम्भव उचित कदम उठा रही है, देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने पुरे देश को 21 दिनों के लिए लॉकडाउन कर दिया है, अब ऐसे में सरकार द्वारा फसल खरीद पर 20 अप्रैल तक लगाई रोक के कारण वो उसे बाज़ार में बेच भी नही सकते, जिसके चलते फसल के भंडारण के लिए भी किसानों को स्वयं इंतजाम करना पड़ेगा ।

फसल कटाई के लिए नहीं मिल रहे मजदूर व थ्रेसर मशीनें, किसानों की चिंता बढ़ी

किसानों के लिए दूसरी सबसे बड़ी समस्या यह उत्पन्न हो गई है की वो खेतों सरसों-चना-गेहूं की पक्क कर तैयार हुई फसलों को कैसे निकाले। खेतों में फसलें पककर तैयार कड़ी है और यह समय भी फसल कटाई का है, परन्तुं इस वैश्विक महामारी के प्रकोप से बचाने के लिए पुरे देश को लॉकडाउन किया जा चुका है ।

इस कारण किसानों को ना तो फसल कटाई के लिए मजदूर मिल रहे है, और ना ही मशीने मिल रही। जिससे किसानों की चिंता बढ़ रही है। ऐसी स्थिति में महंगे दामों में भी मजदूर फसल कटाने को तैयार नहीं हो रहे हैं। जिन किसानों ने जैसे-तैसे अपनी फसल काट ली है उन्हें अब फसल निकालने के लिए थ्रेसर मशीनें नही मिल रही है ।

इसे भी पढ़े: इंदिरा गांधी नहर में सिंचाई पानी बंद 26 मार्च से 70 दिन की नहरबंदी

हरियाणा में गेहूं-सरसों की खरीद कब से शुरू होगी?

प्रदेश में सरसों की खरीद का कार्य 15 अप्रैल से शुरू कर दिया जायेगा , वही गेहूं की खरीद का कार्य 20 अप्रैल से शुरू कर दिया जायेगा.

ये भी जाने : राजस्थान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरसों -चना फसलों की सरकारी खरीद पर रोक

Web :Haryana government said it will not be able to purchase wheat mustard till April 20, 2020

किसान भाइयों के लिए हरियाणा गेहूं-सरसों की खरीद की यह जानकारी कैसी लगी कोमेंट में बताये तथा अन्य किसी प्रकार की जानकारी के लिए भी लिखे .धन्यवाद

Print Friendly, PDF & Email
Advertisement

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here